भजन प्रभु जी के ना आने पर शिकायत !! ~ Balaji Kripa

Friday, 3 October 2014

भजन प्रभु जी के ना आने पर शिकायत !!


आप आये नही और सुबह हो गयी मेरी पूजा की थाली धरी रह गयी !
भोग रखा रहा फूल मुरझा गये आरती भी धरी की धरी रह गयी !!
आप आये ......................................
मेरी पूजा..........................................
हमसे  रुठे हो क्यो आप आते नही मेरा अपराध क्या है बताते नही !
रोते रोते ये सांसे भी रुक ने लगी क्या बुलाने मैं मेरे कमी रह गयी !!
आप आये..............................................
मेरी पूजा .........................................
ज्ञान भी हो गया ध्यान भी हो गया फिर भी दर्शन की आशा धरी ही रही !
इतना होते हुये मैं समझ ना सका कोन सी भाबना में कमी रह गयी !!
आप आये ..........................................
मेरी पूजा की ......................................
दीन बन्धु दया सिन्धु कहलाते हो करते दीनो पे अपनी दया क्यो नहीं !
यू हो तो अनाथो के नाथ हो तुम क्या लगन मे मारी कमी रह गयी !!
आप आये.........................................
मेरी पूजा ........................................

0 comments:

Post a Comment