क्यों चढ़ाया जाता हैं हनुमान जी को सिंदूर का चोला !! ~ Balaji Kripa

Friday, 19 December 2014

क्यों चढ़ाया जाता हैं हनुमान जी को सिंदूर का चोला !!

हनुमान जी श्री राम भक्त है। अष्टचिरंजीवी में से एक चिरंजीवी हनुमान भी है। जो हनुमान जी का पूजन करता है। उसकी उम्र में वृद्धि होती है। मंगल ग्रह की पीड़ा भी हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करने से दूर होती है।शास्त्रों में हनुमान जी को सिंदूर का चोला चढ़ाए जाने के विषय में वर्णन मिलता है कि जब रावण को मारकर राम जी सीता जी को लेकर अयोध्या आए थे। तब हनुमान जी ने भी भगवान राम और माता सीता के साथ आने की जिद की। राम ने उन्हें बहुत रोका। लेकिन हनुमान जी थे कि अपने जीवन को श्री राम की सेवा करके ही बिताना चाहते थे। हनुमान दिन -रात यही प्रयास करते थे कि कैसे श्री राम को खुश रखा जाए। एक बार उन्होंनें माता सीता को मांग में सिंदूर भरते हुए देखा। तो माता सीता से इसका कारण पूछ लिया। माता सीता ने उनसे कहा कि वह प्रभु राम को प्रसन्न रखने के लिए सिंदूर लगाती हैं। हनुमान जी को श्री राम को प्रसन्न करने की ये युक्ति बहुत भा गई। उन्होंने सिंदूर का एक बड़ा बक्सा लिया और स्वयं के ऊपर उड़ेल लिया। और श्री राम के सामने पहुंच गए। तब श्री राम उनको इस तरह से देखकर आश्चर्य में पड़ गए। उन्होंने हनुमान से इसका कारण पूछा। हनुमान जी ने श्री राम से कहा कि प्रभु मैंने आपकी प्रसन्नता के लिए ये किया है। सिंदूर लगाने के कारण ही आप माता सीता से बहुत प्रसन्न रहते हो। अब आप मुझसे भी उतने ही प्रसन्न रहना। तब श्री राम को अपने भोले-भाले भक्त हनुमान की युक्ति पर बहुत हंसी आई। और सचमुच हनुमान के लिए श्री राम के मन में जगह और गहरी हो गई।और श्री राम ने वरदान दिया कि जो भी आप के ऊपर सिंदूर लगायेगा उस से हम बहुत खुश होगे !!

0 comments:

Post a Comment