कुंडली में सूर्य कमजोर या अशुभ हो तो कर सकते हैं ये उपाय !! ~ Balaji Kripa

Sunday, 1 February 2015

कुंडली में सूर्य कमजोर या अशुभ हो तो कर सकते हैं ये उपाय !!


हर रोज सुबह-सुबह सूर्य की आराधना करनी चाहिए। ऐसी मान्यता है जो लोग रोज सूर्य की पूजा करते हैं, उन्हें समाज में मान-सम्मान प्राप्त होता और कार्यों में सफलता मिलती है। ज्योतिष के अनुसार, सूर्य मान-सम्मान का कारक ग्रह है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में सूर्य ग्रह अच्छी स्थिति में है, तो उसे समाज से मान-सम्मान मिलता है, जबकि सूर्य की अशुभ स्थिति व्यक्ति को समाज में अपमानित करवा सकती है। इस ग्रह से शुभ फल पाने के लिए यहां बताए जा रहा उपाय कर सकते हैं ! 
उपाय ::= 
 हर रोज सुबह जल्दी उठकर सूर्य को जल अर्पित करें। इसके लिए तांबे के लोटे का उपयोग करें। जल अर्पित करते समय सूर्य मंत्र का जप करें। यह बहुत ही सामान्य और सरल उपाय है।
मंत्र :::--
1. ऊँ सूर्याय नम:
2. ऊँ आदित्याय विदमहे दिवाकराय धीमहि तन्नौ: सूर्य: प्रचोदयात्।
3. ऊँ आदित्याय नम:

इन तीनों मंत्र में से किसी एक का या तीनों मंत्रों का जप किया जा सकता है। आप गायत्री मंत्र का जप भी कर सकते हैं। गायत्री मंत्र: ऊँ भूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गोदेवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात्।यदि किसी एक मंत्र का जप हर रोज 108 बार करेंगे तो बेहतर रहेगा। इसके लिए रुद्राक्ष की माला का उपयोग कर सकते हैं। सुबह-सुबह नित्यकर्मों से निवृत्त होकर किसी शांत एवं पवित्र स्थान पर साफ आसन बिछाएं और बैठ जाएं। इसके बाद श्रद्धापूर्वक माला का उपयोग करते हुए सूर्य मंत्र का जप 108 बार करें।

0 comments:

Post a Comment