दीपावली पर विशेष मंत्रों से पूजन कर पाएं हर समस्या का समाधान !! ~ Balaji Kripa

Wednesday, 11 November 2015

दीपावली पर विशेष मंत्रों से पूजन कर पाएं हर समस्या का समाधान !!


कार्तिक अमावस्या की रात्रि दीपावली को सभी बाधाओं से मुक्ति की रात्रि माना गया है। इस खास दिन किसी भी प्रकार के पति-पत्नी के बीच झगड़े, गृह कलह, शत्रु, भूत उन्नति प्रगति की बाधाएं दूर कर जीवन में उजाला फैलाया जा सकता है। इस महत्वपूर्ण दिन धन के अभाव को हमेशा-हमेशा के लिए दूर किया जा सकता है। हालांकि यह कुछ ऐसे मंत्र हैं जिन्हें किसी शुभ मुहूर्त में भी जपा जा सकता है। दीपावली के दिन कई महत्वपूर्ण घटनाओं का वर्णन धार्मिक ग्रंथों में मिलता है। इस दिन जीवन में फैले अंधकार को हटाया जा सकता है। इसीलिए यहां प्रस्तुत है कुछ महत्वपूर्ण मंत्र और उनकी पूजन विधि।

पति-पत्नी में हो झगड़ा तो करें यह पूजा !!

कई महिलाएं अपने पति के आचरण से परेशान रहती हैं। शराब पीना, गृह कलह करना, पर स्त्री से संबंध रखना आदि कारणों से पति और पत्नी में संबंध खराब होने लगते हैं और नौबत तलाक तक पहुंच जाती है या घर आर्थिक परेशानियों से घिर जाता है। इसके लिए दीपावली के दिन यह छोटा-सा उपाय करें और सुख शांति पाएं।

पूजा विधि : दीपावली की रात्रि या किसी शुभ मुहूर्त में स्फटिक की माला से 21-21 माला जप करें तथा नित्य एक माला करें।
मंत्र : 'ॐ नमो महायक्षिणी पति मे वश्यं कुरु कुरू स्वाहा।'

शत्रु बाधा से मुक्ति के लिए करे ये पूजा !!

कई व्यक्ति शत्रुओं से परेशान रहते हैं। प्रत्यक्ष और गुप्त शत्रुओं के कारण जीवन में कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होती है और व्यक्ति सफलता से दूर हो जाता है। कई बार शत्रुओं से घिरे होने के कारण व्यक्ति मानसिक परेशानियों का शिकार हो आर्थिक परेशानी भी झेलता है। इसके लिए यह छोटा सा उपाय करें...

पूजा विधि : शत्रु बाधा निवारण के लिए लाल वस्त्र पर काली यंत्र रखकर पूजन करें। दीपावली के शुभ मुहूर्त में 21-21 माला का जाप करें। इसके पश्चात नित्य एक माला जपने के बाद हवन करें। कन्या-ब्राह्मण भोजन कराएं तथा सभी सामग्री विसर्जित कर दें।
मंत्र : ॐ हुं शत्रुं वशयं विजयं सिद्धिं ॐ फट्‍।

आप का रक्तचाप ठीक नहीं रहता की तो ये पूजा करे !!

कई व्यक्तियों का रक्तचाप (ब्लडप्रेशर) कंट्रोल नहीं होता। इसके कारण वह अन्य बीमारियों का भी शिकार हो जाता है। इस स्थिति में व्यक्ति का शरीर कमजोर हो जाता है और वह किसी भी तरह के कार्य नहीं कर पाने के कारण मानसिक और आर्थिक रूप से परेशान रहता है।

पूजन विधि : ऐसे लोग जल में 11 तुलसी पत्र डालकर निम्न मंत्र से जल अभिमंत्रित कर ग्रहण करें। निश्चित लाभ होगा। ढेर सारी चंदन अगरबत्ती जलाकर नित्य एक माला करें।
मंत्र : 'ॐ वज्र हस्ताभ्यां नम:।

परीक्षा में सफलता के लिए करे ये पूजा !!

परीक्षा के दौरान व्यक्ति को स्मृति दोष और आत्मविश्वास की कमी हो जाती है। ऐसे महत्वपूर्ण समय को अच्‍छे से फेस नहीं कर पाने के कारण जीवन में उसे असफलता का सामना करना पड़ता है। ऐसे लोगों के लिए छोटा-सा मंत्र उनके भीतर के भय का निवारण कर देगा।

पूजन विधि : परीक्षा में जाने से पहले नित्य एक माला इक्कीस दिन निम्न मंत्र का जप करने से सफलता मिलती है। दीपावली की रात मं‍त्र जप करते समय चंदन, गूगल की अगरबत्ती और तिल के तेल का दीपक जलाएं।
मंत्र : ॐ विशुद्ध ज्ञान देहाय त्रिवेदी दिव्य चक्षुषे। श्रेय: प्राप्ति निमि‍त्ताय नम: सौमार्थ धारिणे।
 
गृह कलह,भूत-प्रेत, टोना-टोटका आदि से बचने के लिए करे ये पूजा !!

कई बार जीवन में महामारी, शत्रु, भूत प्रेत बाधा, रोग, टोना-टोटका कृत्यादि प्रयोग से व्यक्ति को कई तरह की मानसिक और शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इन परेशानियों के चलते आर्थिक संकट और गृह कलह पैदा होता है। इससे बचने के लिए यह पूजा करे !!

पूजन विधि : नृसिंह भगवान का चित्र रखकर सूर्यास्त के समय निम्न मंत्र की एक माला जपें और नृसिंह भगवान का पूजन करें। इससे संकटों से रक्षा होती है।

मंत्र :ॐ उग्रवीरं महाविष्णुं ज्वलंतं सर्वतोमुखम्
नृसिंह भीषणं भदं, मृत्युंमृत्युं नमाम्यहम्।।

नोट :- सभी मंत्रों में उच्चारण ठीक हो। समय निश्चित हो तथा बैठक स्थान उत्तर या पूर्व मुखी हो। श्रद्धा और विश्वास हो तभी कार्य करने से सफलता मिलती है। उक्त सभी के संबंध में किसी जानकार पंडित से सलाह लें।

0 comments:

Post a Comment